Friday, September 24, 2021
HomeReligionदेवशयनी एकादशी की पूजा विधि

देवशयनी एकादशी की पूजा विधि

सभी एकादशी की तरह इस एकादशी पर भी भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। एकादशी का व्रत बहुत ही फलकारी माना जाता है। हालांकि व्रती को उसका व्रत का फल तभी मिलता है जब वह देवशयनी एकादशी व्रत को विधि-विधान से कर व्रत का श्रवण या पाठ करता है। चलिए आपको बताते है इस दिन आपको किस प्रकार से विष्णु भगवान की आराधना करनी चाहिए।

एकादशी के दिन व्रतधारी को सुबह उठकर स्नानादि करने के बाद भगवान विष्णु को साक्षी मानकर व्रत का संकल्प लेना चाहिए। उसके बाद भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी का पूजन करने के लिए उनकी मूर्ति को पूजा स्थल की चौकी पर स्थापित करनी चाहिए। उसके बाद भगवान विष्णु को धूप दीप नैवेद्द्य आदि जलाकर उनकी आरती करनी चाहिये। आरती के बाद फलाहारी व्रत रखकर अगले दिन पुनः इसी प्रकार से पूजन कर व्रत का पारण करें।

Worship method of Devshayani Ekadashi

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments