Home News Ncr करनाल में 100 ऑक्सीजन बेड का नया फील्ड अस्पताल

करनाल में 100 ऑक्सीजन बेड का नया फील्ड अस्पताल

0
New field hospital of 100 oxygen beds in Karnal
New field hospital of 100 oxygen beds in Karnal

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के निर्वाचन जिला करनाल को 100 ऑक्सीजन बेड का एक नया फिल्ड अस्पताल मिल गया है। जिले के कोविड-19 मरीजों को इससे बड़ी राहत मिलेगी। इतना ही नहीं, असंध के भी दो अस्पतालों में ऑक्सीजन सुविधा वाले 30 बेड का प्रबंध किया गया है। सीएम ने सोमवार को चंडीगढ़ से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये इनकी शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने करनाल रिसोर्स लोकेटर मोबाइल एप की भी शुरुआत की। इस मौके पर शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर व करनाल के सांसद संजय भाटिया भी वीसी के जरिये जुड़े। सीएम ने कहा कि महामारी अब शहरों तक ही सीमित नहीं रही, बल्कि यह ग्रामीण क्षेत्रों में भी बढ़ रही है। इसकी

रोकथाम के लिए व्यापक स्तर पर प्रबंध हो रहे हैं। हर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ऑक्सीजन बेड की तत्काल सुविधा मुहैया करवाने की जरूरत है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के एसीएस को निर्देश दिए कि वे ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित स्वास्थ्य केंद्रों में जल्द से जल्द ऑक्सीजन बेड एवं अन्य जरूरी व्यवस्थाएं उपलब्ध करवांए ताकि इनका लाभ ग्रामीणों को तुरंत मिल सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि करनाल रिसोर्स लोकेटर मोबाइल एप पर अस्पताल, एम्बुलेंस, मेडिकल स्टोर, प्लाज्मा डोनर, वैक्सीनेशन सेंटर संबधी आवश्यक सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। करनाल जिला प्रशासन ने कोविड-19 की तीसरी लहर को रोकने के लिए विस्तृत योजना भी तैयार कर ली है। मुख्यमंत्री ने इस प्लान का भी अवलोकन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव डीएस ढेसी, अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा मौजूद रहे।

10 से 40 फीसदी मरीज दिल्ली के

सीएम ने कहा कि प्रदेश का ऑक्सीजन कोटा 156 टन से बढ़कर 282 टन हो चुका है। केंद्र से अतिरिक्त कोटा बढ़ाने की मांग की गई है, जिससे भविष्य में यदि मरीजों की संख्या बढ़ती है तो किसी प्रकार की परेशानी न आए। एनसीआर के जिलों और जीटी रोड बेल्ट के अस्पतालों में 10 से 40 प्रतिशत मरीज दिल्ली के हैं। उनके लिए भी फिलहाल ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि हम बाहर से आने वाले किसी भी मरीज क इलाज करने से इनकार नहीं कर सकते।

NO COMMENTS

Leave a Reply

Exit mobile version