Delhi: Dengue wreaks havoc but corona in control
Delhi: Dengue wreaks havoc but corona in control

दिन प्रतिदिन कोरोना के मामले कम होते जा रहे हैं मगर वही डेंगू अपना एक नया रिकॉर्ड बना रहा है। अक्टूबर के महीने में डेंगू के 139 केस सामने आए हैं जिसने डॉक्टरों को हैरान कर दिया है। केवल 1 हफ्ते के अंदर ही 3 सालों में डेंगू के सबसे ज्यादा केस बढ़ते जा रहे हैं।

जहां कोरोना ने अपने पैर सिकुड़ने शुरू किए वही डेंगू ने अपने पैर फैलाने शुरू कर दिए। हफ्ते भर के अंदर ही 3 सालों में डेंगू के सबसे ज्यादा के सामने आ रहे हैं अब तक दिल्ली में कुल मिलाकर 480 केस दर्ज किए गए हैं जो 3 सालों के मुताबिक सबसे ज्यादा केस है। पिछले साल 2020 में 316 और 2019 में 467 केस सामने आए थे।

डेंगू मलेरिया का कहर

डॉक्टरो तो हैरान करने वाली अलग वजह है, मॉनसून के जाने में अभी देरी है इसलिए अभी ना तो ठंडी है और ना ही गर्मी इसलिए ही मच्छरों की ब्रीडिंग ज्यादा बढ़ने की संभावना है, शायद यही वजह है कि इस हफ्ते मलेरिया के 14 केस और चिकनगुनिया के 6 केस सामने आए हैं। कुल मिलाकर इस साल मलेरिया के 127 केस दर्ज हुए हैं जबकि पिछले साल मलेरिया के 179 के और 2019 में 459 केस सामने आए था। पब्लिक हेल्थ ऑफिसर के मुताबिक लोगों को पहले ही आगाह किया जा रहा है कि वह अपने घरों में पानी जमा न होने दे। जिससे मच्छरों की पैदावार को रोका जा सकता है।

हिंदू राव हॉस्पिटल में नॉर्थ दिल्ली नगर निगम ने 145 बेड डेंगू मरीजों के लिए रिजर्व कर दिए हैं। वहीं ईस्ट दिल्ली नगर निगम ने अपने हस्पताल स्वामी दयानंद के 40 बेड रिजर्व कर दिए हैं और साथ में ही ईस्ट एमसीडी ने बताया है कि डेंगू के 47 और मलेरिया के 15 के सामने आ चुके हैं।छोटा बाजार से सिविल हस्पताल और गुरु तेग बहादुर में डेंगू जांच की सुविधा कर दी गई है।

एल एन जेपी अस्पताल की सुविधा

लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में डेंगू के मरीजों के इलाज के लिए अलग से डेंगू के लिए तीन वार्ड बना दिए गए है। केवल 100 बिस्तर ही रिजर्व किए गए हैं बल्कि अलग से एक फीवर वार्ड का भी इंतजाम किया गया है।

लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर ने बताया कि डेंगू के केवल 15 मरीज अस्पताल में ही भर्ती है। इमरजेंसी के लिए उनके पास प्लेटलेट्स की 200 यूनिट तैयार है अब तक केवल 5 मरीजों को ही प्लेटलेट्स की जरूरत हुई है क्योंकि यह मरीज मॉडरेट कैटेगरी के हैं। अभी तक ऐसे मरीज नहीं आए हैं जिनको आईसीयू की जरूरत पड़े।

मगर अब दिल्ली में डेंगू चिंता का मुद्दा बनता जा रहा है।मगर उसी तरफ कोरोना इन कंट्रोल में दिखाई दे रहा है।डॉक्टरों का कहना है की अगर 18 साल से कम उम्र वाले बच्चों को टीका लगा दिया जाए तो तीसरी लहर आने का खतरा टल सकता है।

Delhi: Dengue wreaks havoc but corona in control

Leave a Reply