Know why heart diseases are increasing in youth
Know why heart diseases are increasing in youth

दिन प्रतिदिन हम देख रहे हैं कि युवाओं में दिल की बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं। अब तक केवल 35 साल से ज्यादा उम्र वालों के ही हार्ट अटैक के केस सामने आते थे। अगर कभी ऐसा होता भी था तो उसके पीछे एक खास फिजिकल एक्टिविटी छुपी होती थी। मगर अब 35 साल से कम उम्र वालों के युवाओं को भी दिल की बीमारी होने लगी है। कोरोना महामारी ने भी दिल की बीमारी में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। कोरोना वायरस ने दिल की बीमारी को कई कई वजहों को जन्म दिया है

मुंबई के एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट के थोरेसिक सर्जन वीसी और एमडी डॉक्टर राम कांत पांडे ने बताया है कि अगस्त के महीने में 28 साल का एक युवक उनके पास सीने में तेज दर्द और सांस की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंचा था और युवक में पोस्ट कोविड हार्ट अटैक पाया गया था।

युवाओं में हार्ट अटैक होने के कारण

युवाओं में हार्ट अटैक बढ़ रहे मामलों को समझने के लिए पिछले 2 सालों से स्टडी की जा रही है जिसमें सामने आया है कि युवाओं में हार्ट अटैक बढ़ने के कारण ज्यादा शराब और स्मोकिंग, स्ट्रोक और दिल की बीमारियों को जिम्मेदार माना गया है। इसी साल अगस्त में की गई यूरोपीयन सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी की स्टडी में सामने आया है की शराब और स्मोकिंग का असर ब्लड प्रेशर केलोस्ट्रोल और ब्लड ग्लूकोस पर पड़ता है।

ज्यादा मात्रा में जंग और फैटी फूड खाने की वजह से भी हमारे शरीर की धमनियां सख्त हो जाती हैं और दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसी साल अगस्त के महीने में अमेरिका की हेल्थ यूनिवर्सिटी में 18 से 30 साल के 4946 लोगों पर एक स्टडी की गई थी। स्टडी के अनुसार 52% लोगों में दिल की बीमारी होने का कम मात्रा में खतरा पाया गया है‌। यह लोग केवल प्लांट बेस्ड और सेहतमंद खाना खाना पसंद करते हैं मगर इनमें 30 की उम्र के बाद दिल से जुड़ी बीमारियों के विकसित होने की संभावना जताई गई है।

वहीं अब इस साल अप्रैल में की गई स्टडी के अनुसार मोटापे को दिल की बीमारी का भी एक मुख्य कारण बताया गया है। मोटापे से स्लीप डिसऑर्डर और डायबिटीज और हाइपरटेंशन भी बढ़ जाता है। युवाओं के हार्ट अटैक को केलोस्ट्रोल और मोटापे से जोड़ा गया है। मगर साथ में ही स्टडी के अनुसार एक कारण और सामने आया है जिसमें दिल की बीमारी जन्मजात से ही होती है। ऐसे में लोगों को ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी करने की सलाह दी गई है ।क्योंकि इससे दिल की बीमारी होने का खतरा कम होता है। डॉक्टर्स भी युवाओं को खुद को दिल की बीमारियों से दूर रखने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज करने को देते हैं और हेल्दी खाने और एक्टिव रहने की सलाह देते हैं।

Know why heart diseases are increasing in youth

Leave a Reply