Home Entertainment Health पान के पत्ते खाने से दूर होती है सर्दी-जुकाम, फेफड़ों के लिए...

पान के पत्ते खाने से दूर होती है सर्दी-जुकाम, फेफड़ों के लिए है लाभकारी

0
Eating betel leaves relieves colds, cold, is beneficial for lungs
Eating betel leaves relieves colds, cold, is beneficial for lungs

पान के बारे में (About Betel Leaf or Paan) तो सभी जानते होंगे। पान के पत्ते को खाने के अलावा पूजा-पाठ में भी खूब इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या कभी आपने पान के पत्तों को सेहत सम्बन्धी किसी दिक्कत को दूर करने के लिए इस्तेमाल (Used to overcome a problem) किया है? पुराने जमाने में होठों को लाल करने के लिए पान के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता था। मौजूदा दौर में लोग पान के पत्ते में सुपाड़ी डालकर खाते है. सोशल मीडिया पर ये भी अफवाह उड़ी थी कि पान के पत्ते खाने से कोरोना नहीं होता, हालांकि ये बिल्कुल भी सही नहीं है। पान के पत्ते से कोरोना का इलाज तो नहीं होता लेकिन इसके इस्तेमाल से सर्दी-जुकाम और फेफड़ों से संबंधित बीमारी जरूर ठीक की जा सकती है।


सांस से संबंधी समस्या

आयुर्वेद में पान के पत्तों के काफी गुण बताए गए हैं। आयुर्वेद के अनुसार सर्दी, बुखार जैसी समस्याओं को ठीक करने में भी पान के पत्ते बेहद फायदेमंद साबित होते हैं। छाती में जकड़न और फेफड़ों की समस्या में पान के पत्तों का सेवन करना चाहिए। इनके सेवन से धीरे- धीरे शरीर का उपचार होने लगता है। यदि ठीक से सांस नहीं ले पा रही हैं तो गर्म पानी में पान के पत्तों के साथ लौंग और इलायची को उबालते रहें जब पाना आधा हो जाए तो इस पानी का सेवन करें। ऐसा करने से फेफड़ों में आई सूजन भी कम होती है। दिन में दो बार इसका सेवन करें।

सर्दी-जुकाम से राहत मिलती है

पान के पत्तों के इस्तेमाल से सर्दी-ज़ुकाम से राहत मिलती है। इसके लिए आप पान के पत्तों से डंठल को अलग कर लें। फिर इन डंठलों को पत्थर पर घिस लें और इसमें थोड़ा सा शहद मिला कर इसका सेवन करें। इस से सर्दी-ज़ुकाम के साथ कफ में भी आराम मिलता है।

ब्रेस्ट स्वेलिंग को दूर करता है

कई प्रसूतायें किसी भी वजह से अपने नवजात शिशु को दूध नहीं पिला पाती हैं, इस वजह से उनके ब्रेस्ट में काफी स्वेलिंग आ जाती है। इस स्वेलिंग को दूर करने के लिए पान के पत्तों को हल्का गर्म करके उनके ब्रेस्ट पर बांध सकते हैं। इसे बांधने से स्वेलिंग कम होती है।

NO COMMENTS

Leave a Reply

Exit mobile version