Wednesday, June 23, 2021
HomeBusinessबीते सप्ताह सरसों, मूंगफली, सोयाबीन में सुधार, सीपीओ तेल में गिरावट

बीते सप्ताह सरसों, मूंगफली, सोयाबीन में सुधार, सीपीओ तेल में गिरावट

शिकॉगो एक्सचेंज में मजबूती से सोयाबीन तेल कीमतों में सुधार ‎दिखाई ‎दिया

दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में बीते सप्ताह सरसों और मूंगफली तेल-तिलहन कीमतों में सुधार दिखाई दिया। शिकॉगो एक्सचेंज में मजबूती के कारण जहां सोयाबीन तेल कीमतों में सुधार दिखा, वहीं सोयाबीन के दागी माल की मांग प्रभावित होने से सोयाबीन तिलहनों के भाव नरमी के साथ बंद हुए।

बाजार के जानकारों ने कहा कि आयात शुल्क मूल्य में वृद्धि किए जाने के बाद सीपीओ के महंगा होने से सीपीओ और पामोलीन दिल्ली के भाव जहां नरम बंद हुए, वहीं इंडोनेशिया द्वारा निर्यात शुल्क बढ़ाये जाने की वजह से पामोलीन कांडला की कीमतों में पिछले सप्ताहांत के मुकाबले 30 रुपए प्रति क्विन्टल का सुधार आया। सूत्रों ने कहा कि मौजूदा समय में चिकन, अंडे और दुग्ध उत्पादों के दाम में काफी बढ़ोतरी हुई है जिसका देश की खुदरा मु्द्रास्फीति पर असर होता है।

इसमें दुधारू मवेशियों और मुर्गियों के चारे के रूप में प्रयोग किये जाने वाले अलग-अलग तेल रहित खल (डीओसी) और तेल खली की कीमतों को देखें, तो जिस बिनौला खल का भाव पहले 2,200 रुपये क्विन्टल था वह अब बढ़कर लगभग 3,600 रुपये क्विन्टल हो गया है। इसी प्रकार, तिल खल का भाव पहले के 3,200 – 3,300 रुपए क्विन्टल से बढ़कर 5,000 रुपए क्विन्टल हो गया है। वहीं सोयाबीन डीओसी का भाव पहले के लगभग 3,000 रुपए क्विन्टल से बढ़कर लगभग 6,200 रुपए क्विन्टल हो गया है।

बीते सप्ताह, सरसों दाना का भाव 50 रुपए का लाभ दर्शाता 7,350-7,400 रुपए प्रति क्विन्टल हो गया जो पिछले सप्ताहांत 7,300-7,350 रुपए प्रति क्विंटल था। सरसों दादरी तेल का भाव भी 65 रुपए बढ़कर 14,465 रुपए प्रति क्विन्टल हो गया। सरसों पक्की घानी और कच्ची घानी टिनों के भाव भी समीक्षाधीन सप्ताहांत में 30-30 रुपए का लाभ दर्शाते क्रमश: 2,330-2,380 रुपए और 2,430-2,530 रुपए प्रति टिन पर बंद हुए।

Mustard and groundnut oil-oilseeds prices showed improvement in Delhi oil-oilseeds market last week.
RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments