tulsi plant direction
tulsi plant direction

तुलसी को आयुर्वेद मैं बहुत उपयोगी माना जाता है। इसका उपयोग कई बीमारियों से बचने के लिए दवाओं के रूप में किया जाता है। इसके साथ-साथ सनातन धर्म में भी तुलसी का विशेष महत्व है। तुलसी भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय है । धार्मिक मान्यता के अनुसार जिस घर में तुलसी के पौधे की नियमित रूप से देखभाल और पूजन किया जाता है। उस घर में हमेशा सुख समृद्धि और खुशहाली बनी रहती है। वास्तु में भी तुलसी का बहुत महत्व है । तुलसी का पौधा नकारात्मक ऊर्जा को दूर भगाकर सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा देती है यदि आपके घर में भी तुलसी का पौधा लगा हुआ है। तो केवल कुछ बातों को ध्यान में रखना आवश्यक है तुलसी को सौभाग्य का प्रतिक माना गया है। लेकिन अगर सही तरीके से देखभाल ना की जाए तो कुछ गलतियों की वजह से सौभाग्य के स्थान पर समस्याओं का भरमार आ सकता है। आइए जानते हैं तुलसी क्यों घर में रखते समय किन-किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए।

तुलसी की सही दिशा

पहले के समय में तुलसी का पौधा आंगन के बीचो-बीच लगाया जा रहा था लेकिन आज के समय में घरों के आकार बदलने के कारण तुलसी के लिए सही स्थान का चुनाव नहीं हो पाता है । गलत दिशा में लगी तुलसी से फायदे की जान उठाना पड़ सकता है। ग्रह की पूर्वी या दक्षिण पूर्वी दिशा में तुलसी नहीं रखनी चाहिए तुलसी के पौधे को उत्तर दिशा से लेकर पूर्व उत्तर में स्थापित करना शुभ माना जाता है।

तुलसी को बहुत ही पवित्र और पूजनीय माना जाता है इसलिए इसके रखरखाव में विशेष सावधानी बरतने की काफी जरूरत होती है। तुलसी के पौधे के आसपास हमेशा सफाई होनी चाहिए। इसके आसपास गंदे कपड़े ,झाड़ू जूते-चप्पल आदि कोई गंदगी नहीं रखनी चाहिए। तुलसी के पत्तों को हमेशा स्वच्छ हाथों से ही तोड़ना चाहिए अन्यथा तुलसी का पौधा सूखने लगता है।

Tulsi is considered very useful in Ayurveda. It is used as medicines to avoid many diseases. Along with this, Tulsi has special

Leave a Reply