Friday, October 30, 2020
Home SECTIONS द्वितीय नवरात्र : बह्मचारिणी

द्वितीय नवरात्र : बह्मचारिणी

नवरात्र के दूसरे दिन बह्मचारिणी मां का पूजन किया जाता है। यह मां दुर्गा का दूसरा स्वरूप हैं। यहां ब्रह्म शब्द का रूप तपस्या है। बह्मचारिणीअर्थात‍् तप का आचरण करने वाली। पूर्व जन्म में हिमालय की पुत्री के रूप में इन्होंने भगवान शंकर को पति रूप में प्राप्त करने के लिए एक हज़ार साल कठिन तपस्या की। इस तपस्या से तीनों लोक कांप उठे। तब ब्रह‍्माजी ने आकाशवाणी द्वारा प्रसन्न मुद्रा में उनसे कहा, हे ‘देवी! आज तक किसी ने भी ऐसी कठोर तपस्या नहीं की, जैसी तुमने की है। जाओ, तुम्हारी मनोकामना अवश्य पूर्ण होगी। भगवान शिव तुम्हें पति रूप में प्राप्त होंगे।’ उनके आशीर्वाद से मां को पति रूप में शंकर जी मिले।

Avatar
aakedekhhttps://aakedekh.in
Aakedekh : Live TV लाइव Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ऑस्कर में कनाडा का प्रतिनिधित्व करेगी दीपा मेहता की ‘फनी ब्वॉय’

जानी-मानी फिल्मकार दीपा मेहता की आगामी फीचर फिल्म ‘फनी ब्वॉय' सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय फिल्म श्रेणी के तहत 93वें अकादमी पुरस्कार में कनाडा का...

आरटीआई कार्यकर्त्ता पर लगाया रेप का आरोप

कई बड़े मामलों का खुलासा करने वाले आरटीआई कार्यकर्त्ता ओमप्रकाश कटारिया के खिलाफ एक महिला ने शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है।...

फसल, ट्रैक्टर लोन पर ब्याज पर ब्याज से छूट नहीं

वित्त मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि कृषि और संबद्ध गतिविधियों से संबंधित ऋण के लिए चक्रवृद्धि ब्याज यानी ब्याज-पर-ब्याज माफी योजना...

करो या मरो का मुकाबला आज रॉयल्स से भिड़ेगा पंजाब

आत्मविश्वास से ओतप्रोत किंग्स इलेवन पंजाब आईपीएल के मैच में शुक्रवार को जीत के इस अभियान को कायम रखते हुए प्लेआफ की...

Recent Comments

Open chat