Wednesday, October 21, 2020
Home SPORTS बल्लेबाजों के दम पर जीतना चाहेंगे सनराइजर्स और किंग्स इलेवन

बल्लेबाजों के दम पर जीतना चाहेंगे सनराइजर्स और किंग्स इलेवन

गेंदबाजों की नाकामी के कारण अब तक लचर प्रदर्शन करने वाले किंग्स इलेवन पंजाब और सनराइजर्स हैदराबाद आईपीएल में गुरुवार को जब आमने-सामने होंगे तो उनका दारोमदार टीम के बल्लेबाजों पर टिका रहेगा। किंग्स इलेवन ने अब तक 5 में से 4 मैच गंवाये हैं और वह तालिका में सबसे निचले पायदान पर है। सनराइजर्स ने तीन मैच गंवाये हैं और दो में उसे जीत मिली है और वह छठे स्थान पर है।

किंग्स इलेवन का मजबूत पक्ष उसकी सलामी जोड़ी है। कप्तान केएल राहुल शानदार फार्म में हैं तथा उन्होंने दो अर्धशतक और एक शतक लगाया है जबकि मयंक अग्रवाल एक शतक और एक अर्धशतक लगा चुके हैं। निकोलस पूरण भी अच्छी भूमिका निभा रहे हैं लेकिन ग्लेन मैक्सवेल अब तक नहीं चल पाये हैं।

लेकिन अच्छी बल्लेबाजी के बावजूद किंग्स इलेवन को अपनी निराशाजनक गेंदबाजी के कारण हार का सामना करना पड़ा। मोहम्मद शमी को छोड़कर उसका कोई भी अन्य गेंदबाज निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया है। उसे अब सनराइजर्स का सामना करना है जिसके शीर्ष क्रम में जॉनी बेयरस्टॉ, डेविड वार्नर, मनीष पांडे और केन विलियमसन जैसे बल्लेबाज हैं।

ये सभी किंग्स इलेवन के गेंदबाजों की कमजोरी का फायदा उठाना चाहेंगे। सनराइजर्स को रविवार को मुंबई इंडियन्स से 34 रन से हार का सामना करना पड़ा था।

Avatar
aakedekhhttps://aakedekh.in
Aakedekh : Live TV लाइव Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

डिफाल्टरों को दिखानी होगी मास्क वाली सेल्फी

ऐप आधारित टैक्सी सेवा देने वाली कंपनी उबर ने कहा है कि उसके जिन यात्रियों ने अपनी पिछली यात्रा के दौरान मास्क...

भोंडसी गांव में राम मंदिर की जगह पर नहीं बनेगा पुलिस थाना

गांव भोंडसी में ग्रामीणों ने राम मंदिर की जमीन पर पुलिस थाना बनवाने के पंचायत के फैसले का कड़ा विरोध किया है।...

बुजुर्ग ने खुद के सिर में मारी गोली, गंभीर

मनीमाजरा के हाउसिंग काॅम्पलैक्स डूपलेक्स में सोमवार तड़के केंद्र सरकार से रिटायर्ड इंजीनियर ने खुद को गोली मार ली। 70 वर्षीय सुरेन्द्र...

प्ले वे स्कूल प्राइवेट संस्थाओं को सौंपने का फैसला वापस ले सरकार

वर्तमान सरकार द्वारा निजीकरण को बढ़ावा देने के लिए आए दिन विभिन्न विभागों को बंद करने का जो निर्णय लिया जा रहा...

Recent Comments

Open chat