Wednesday, September 23, 2020
Home NEWS मातृत्व की ऊंचाई

मातृत्व की ऊंचाई

नॉर्वे की प्रख्यात लेखिका श्रीमती सिग्रिड अनसेट को 1928 में जब नोबेल पुरस्कार मिला तो देश भर से पत्रकार उनके घर पर इकट्ठे हो गए और उन्होंने लेखिका से प्रश्नों की झड़ी लगा दी। कोई पूछ रहा था, ‘आप कैसे लिखती हैं?’ तो कोई जानना चाहता था ‘आपके स्त्रियों की प्रगति के बारे में क्या विचार हैं?’ तो एक पूछ रहा था ‘पुरस्कार की राशि आप कैसे खर्च करेंगी?’ तभी प्रश्नों को काटते हुए अनसेट बोली, ‘आप यहां से चले जाएं, मुझे अभी फुरसत नहीं है।’ पत्रकार चिल्लाए, ‘क्या आप इस समय कोई महत्वपूर्ण पुस्तक लिख रही हैं?’ लेखिका अनसेट ने पत्रकारों को उत्तर दिया, ‘जी नहीं, मैं इस समय कोई बड़ी पुस्तक नहीं लिख रही हूं, बल्कि इस समय मैं अपने बच्चों को सुला रही हूं। नोबेल पुरस्कार से मुझे खुशी तो हुई है, लेकिन इतनी नहीं हुई, जितनी मुझे अपने बच्चों के साथ रहने में होती है। एक स्त्री के लिए मातृत्व सबसे बड़ा सुख होता है।’ और यह कह कर वे अपने कमरे में चली गई और लोरियां गा-गा कर बच्चों को सुलाने लगी।

Avatar
aakedekhhttps://aakedekh.in
Aakedekh : Live TV लाइव Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

दीपिका को पूछताछ के लिए बुला सकती है एनसीबी

बॉलीवुड में मादक पदार्थ के कथित गठजोड़ की जांच कर रहे मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) जरूरत पड़ने पर अभिनेत्री दीपिका पादुकोण...

संयुक्त राष्ट्र पर मंडरा रहा ‘भरोसे की कमी का संकट’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि समग्र सुधारों के अभाव में संयुक्त राष्ट्र ‘भरोसे की कमी के संकट’ का सामना कर रहा...

केकेआर-मुंबई के बीच मुकाबला बल्लेबाजों का

कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच बुधवार को होने वाला इंडियन प्रीमियर लीग का मुकाबला आतिशी बल्लेबाजी की जंग भी...

घुसपैठ नाकाम, सीमा पर मादक पदार्थ और हथियार बरामद

बीएसएफ ने ‍जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ की कोशिश नाकाम की है, साथ ही एक-एक किलोग्राम हेरोइन...

Recent Comments

Open chat